I am Dedicated, Multitasking Person

You Learn More From Failure Than From Success. Don’t Let It Stop You. Failure Builds Character.” – Unknown Cricket we love you

02

पहले किसी बीमारी से परेशान लोगों के लिए कोरोना ज्यादा खतरनाक साबित हो रहा है. डायबिटीज भी इन्हीं बीमारियों में से एक है जो कोरोना के मरीजों की मुश्किल… ब्लड ग्लूकोज का खराब स्तर इंसुलिन के उत्पादन पर असर डालता है और इसकी वजह से इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है. इसके अलावा डायबिटीज के मरीजों का ब्लड फ्लो भी … डायबिटीज के मरीज को अगर कोरोना हो जाए उसके लिए वायरल लोड से लड़ना और मुश्किल हो जाता है. इतना ही नहीं उनमें और दूसरी कई बीमारियां होने का भी खतरा बढ़ …

जिन मरीजों की मौत हुई उसके प्रमुख कारणों में था कि उम्रदराज मरीज़ों में अस्पताल में भर्ती होते समय सेप्सिस के लक्षण थे. उन्हें हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज जैसी बीमारियां थीं.

हालांकि, शोधकर्ताओं को लगता है कि सैंपल साइज छोटा होने के कारण उनके निष्कर्षों की व्याख्या सीमित हो सकती है.

भारत में डायबिटीज़ के मरीजों की संख्या बहुत है. इंटरनेशनल डायबिटीज़ फेडरेशन के मुताबिक भारत में 2019 तक डायबिटीज के मरीजों की संख्या 7.7 करोड़ थी. कोरोना वायरस से संक्रमित कई लोगों को डायबिटीज भी बताई जा रही है. हालांकि, ऐसे कितने मरीज़ हैं इसका आँकड़ा उपलब्ध नहीं है.

ग्लोबल अस्थमा रिपोर्ट 2018 के मुताबिक भारत में 1.31 अरब लोगों को अस्थमा है जिनमें 6 प्रतिशत बच्चे और दो प्रतिशत वयस्क शामिल हैं.

ऐसे में अगर आपको लंबे समय से कोई बीमारी है और कोरोना वायरस को लेकर डर है तो विशेषज्ञ बता रहे हैं कि आप क्या कर सकते हैं.

किसेहै ज़्यादा ख़तरा

अगर आपको पहले से कोई बीमारी है तो ये ज़रूरी नहीं कि आपको कोरोना वायरस का संक्रमण दूसरों के मुक़ाबले जल्दी हो जाए लेकिन संक्रमण के बाद हालात अन्य मरीज़ों से ज़्यादा गंभीर हो सकते हैं.

ये देखा गया है कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बूढ़ों और पहले से ही सांस की बीमारी (अस्थमा) से परेशान लोगों, कमज़ोर प्रतिरक्षण प्रणाली, मधुमेह और हृदय रोग जैसी परेशानियों का सामना करने वालों के गंभीर रूप से बीमार होने की आशंका अधिक होती है.

कई लोगों कुछ दिनों के आराम के बाद कोरोना वायरस के संक्रमण से ठीक हो जाते हैं. कई लोगों के लिए ये ज़्यादा गंभीर हो सकता है और दुर्लभ मामलों में तो इससे जान को ख़तरा हो सकता है. इसके लक्षण अन्य बीमारियों से मिलते-जुलते हैं. जैसे सर्दी-जुकाम, खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ़.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *